Fri. May 27th, 2022
NTAGI ने सीरम इंस्टिट्यूट की Covovax वैक्सीन को दी मंजूरी, 12 से 17 साल वालों को लगेगी
Teenagers- India TV Hindi
Image Source : PTI
Teenagers

NTAGI ने सीरम इंस्टिट्यूट की Covovax वैक्सीन को दी मंजूरी, 12 से 17 साल वालों को लगेगी  Coronavirus Vaccine: नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन (NTAGI) ने शुक्रवार को  12-17 साल की उम्र वालों के लिए के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) की कोरोना वैक्सीन Covovax को मंजूरी दी है। अब देश में 12-17 वर्ष के आयुवर्ग के लिए एक और नई कोरोना वैक्सीन मिल गई है। बता दें कि एक हफ्ते में देश के अंदर बच्चों की तीसरी वैक्सीन को मंजूरी दी गई है। इससे पहले तीन वैक्सीन मंगलवार को मंजूर की गई थीं।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सरकार और नियामक मामलों के निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को हाल ही में एक पत्र लिखकर 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों के टीकाकरण अभियान में कोवोवैक्स को शामिल किए जाने का अनुरोध किया था। भारत में 12-14 साल की उम्र के बच्चों का टीकाकरण 16 मार्च से शुरू हआ था।

PM चाहते हैं स्कूलों में चलाया जाए स्पेशल कैंपेन

इससे पहले केंद्र सरकार ने गुरुवार को घोषणा की थी कि बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर वह शुक्रवार को एक अधिसूचना जारी करेगी। यह अधिसूचना शुक्रवार को NTAGI की बैठक में की जाने वाली सिफारिशों पर आधारित होगी। दरअसल गुरुवार को सरकार की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सभी बच्चों को जल्द से जल्द वैक्सीन लगाए जाने पर जोर देने के चलते की गई थी। प्रधानमंत्री चाहते हैं कि बच्चों के वैक्सीनेशन के लिए स्कूलों में स्पेशल कैंपेन चलाए जाएं। उन्होंने इस काम को सरकार की प्राथमिकता सूची में शामिल किया है।

3 दिन पहले भी तीन कोरोना वैक्सीन को दी थी मंजूरी

भारतीय दवा नियामक DCGI ने मंगलवार को भी तीन कोरोना वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी थी। DCGI ने 5 से 12 साल की उम्र वाले बच्चों के लिए बॉयोलॉजिकल-ई कंपनी की कॉर्बेवैक्स और 6 से 12 साल की उम्र वालों के लिए भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को मंजूरी दी थी। इसके अलावा 12 साल से अधिक की उम्र के बच्चों के लिए जायडस कैडिला की जायकोव डी वैक्सीन को भी इमरजेंसी यूज की मंजूरी दी गई थी।

अब 6 साल से 100+ साल तक सभी के लिए कोवैक्सीन उपलब्ध

अब 6 साल से लेकर 100+ की उम्र वालों तक के लिए कोवैक्सीन उपलब्ध है। हालांकि अलग-अलग एज ग्रुप में नाम एक ही होने के बावजूद वैक्सीन में अंतर है। बॉयोलॉजिकल-ई की कॉर्बेवैक्स स्वदेशी रूप से डेवलप की गई पहली आरबीडी प्रोटीन सब-यूनिट वैक्सीन है और 12 से 14 साल तक की उम्र के बच्चों को पहले ही लगाई जा रही है।

[ad_2]

By THE

Leave a Reply

Your email address will not be published.