झारखंड: पंचायत चुनावों के प्रथम चरण में 39513 नामांकन, मामली गलती के लिए रद्द नहीं होगा पर्चा

[ad_1]

सार

आयोग ने बताया कि पूर्व में यह देखा गया है कि नामांकन पत्रों में छोटी-मोटी त्रुटियों के आधार पर नामांकन अस्वीकृत कर दिया जाता था। हालांकि, अब मामूली गलतियों के लिए नामांकन पत्र रद्द नहीं किया जाएगा।

ख़बर सुनें

झारखंड में 14 मई को होने वाले पंचायत चुनाव के पहले चरण के लिए शनिवार को नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया पूरी हो गई और प्रथम चरण के लिए कुल 39,513 लोगों ने नामांकन पत्र भरे हैं। वहीं, राज्य निर्वाचन आयोग ने उम्मीदवारों को राहत देते हुए रविवार को घोषणा की कि मामूली त्रुटियों के लिए किसी के भी नामांकन रद्द नहीं किए जाएंगे।

राज्य निर्वाचन आयोग के प्रवक्ता ने बताया कि पहले चरण में 21 जिलों के 72 प्रखंड में नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया पूरी हुई। इस चरण में कुल 39,513 प्रत्याशियों ने पर्चा दाखिल किया। इसमें 23,536 महिला अभ्यर्थी शामिल हैं। इस तरह से पहले चरण में पुरुष से अधिक महिला उम्मीदवारों की ओर से पर्चा दाखिल किया गया।

आयोग ने बताया कि पूर्व में यह देखा गया है कि नामांकन पत्रों में छोटी-मोटी त्रुटियों के आधार पर नामांकन अस्वीकृत कर दिया जाता था। हालांकि, अब मामूली गलतियों के लिए नामांकन पत्र रद्द नहीं किया जाएगा।

आयोग ने बताया कि प्रथम चरण में ग्राम समिति सदस्य के लिए 15,719 महिला और 9,674 पुरुष अभ्यर्थियों ने नामांकन दाखिल किया। इसी तरह से मुखिया पद के लिए 4,343 महिला और 3,512 पुरुष, पंचायत समिति सदस्य के लिए 2,918 महिला और 2,315 पुरुष तथा जिला परिषद सदस्य के लिए 558 महिला और 474 पुरुष उम्मीदवारों ने पर्चा दाखिल किया।

अब 25 और 26 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी जबकि 27 और 28 अप्रैल को उम्मीदवार नामांकन वापस ले सकेंगे और 29 अप्रैल को चुनाव में खड़े उम्मीदवारों के बीच चुनाव चिह्न का वितरण किया जाएगा। प्रथम चरण के लिए 14 मई को मतदान और 17 मई को मतगणना की तिथि निर्धारित की गई है।

विस्तार

झारखंड में 14 मई को होने वाले पंचायत चुनाव के पहले चरण के लिए शनिवार को नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया पूरी हो गई और प्रथम चरण के लिए कुल 39,513 लोगों ने नामांकन पत्र भरे हैं। वहीं, राज्य निर्वाचन आयोग ने उम्मीदवारों को राहत देते हुए रविवार को घोषणा की कि मामूली त्रुटियों के लिए किसी के भी नामांकन रद्द नहीं किए जाएंगे।

राज्य निर्वाचन आयोग के प्रवक्ता ने बताया कि पहले चरण में 21 जिलों के 72 प्रखंड में नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया पूरी हुई। इस चरण में कुल 39,513 प्रत्याशियों ने पर्चा दाखिल किया। इसमें 23,536 महिला अभ्यर्थी शामिल हैं। इस तरह से पहले चरण में पुरुष से अधिक महिला उम्मीदवारों की ओर से पर्चा दाखिल किया गया।

आयोग ने बताया कि पूर्व में यह देखा गया है कि नामांकन पत्रों में छोटी-मोटी त्रुटियों के आधार पर नामांकन अस्वीकृत कर दिया जाता था। हालांकि, अब मामूली गलतियों के लिए नामांकन पत्र रद्द नहीं किया जाएगा।

आयोग ने बताया कि प्रथम चरण में ग्राम समिति सदस्य के लिए 15,719 महिला और 9,674 पुरुष अभ्यर्थियों ने नामांकन दाखिल किया। इसी तरह से मुखिया पद के लिए 4,343 महिला और 3,512 पुरुष, पंचायत समिति सदस्य के लिए 2,918 महिला और 2,315 पुरुष तथा जिला परिषद सदस्य के लिए 558 महिला और 474 पुरुष उम्मीदवारों ने पर्चा दाखिल किया।

अब 25 और 26 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी जबकि 27 और 28 अप्रैल को उम्मीदवार नामांकन वापस ले सकेंगे और 29 अप्रैल को चुनाव में खड़े उम्मीदवारों के बीच चुनाव चिह्न का वितरण किया जाएगा। प्रथम चरण के लिए 14 मई को मतदान और 17 मई को मतगणना की तिथि निर्धारित की गई है।

[ad_2]

Source link

Leave a Comment

%d bloggers like this: