Fri. May 27th, 2022
झारखंड: तीन जिले गर्मी की चपेट में, 28 अप्रैल से छह और जिलों में लू चलने का अनुमान

झारखंड: तीन जिले गर्मी की चपेट में, 28 अप्रैल से छह और जिलों में लू चलने का अनुमान सार

झारखंड के तीन जिले पश्चिमी सिंहभूम, कोडरमा और गिरिडीह जिले लू की चपेट में हैं जबकि छह जिले रांची, बोकारो, पूर्वी सिंहभूम, गढ़वा, पलामू और चतरा में 28 अप्रैल तक लू चलने का अनुमान है।

ख़बर सुनें

झारखंड के तीन जिलों में कुछ दिनों की राहत के बाद सोमवार को एक बार फिर से लू चलने लगी है और तीन दिन के अंदर राज्य के छह अन्य जिलों में भी लू चलने का अनुमान है।

पश्चिमी सिंहभूम, कोडरमा और गिरिडीह जिले लू की चपेट में हैं जबकि रांची, बोकारो, पूर्वी सिंहभूम, गढ़वा, पलामू और चतरा में 28 अप्रैल तक लू चलने का अनुमान है। रांची मौसम केंद्र के प्रभारी अभिषेक आनंद ने बताया कि “देश के पश्चिम और उत्तर पश्चिमी हिस्सों से आने वाली शुष्क और गर्म हवाओं की वजह से झारखंड में तापमान बढ़ रहा है। अगले दो-तीन दिनों के दौरान अधिकतम तापमान दो से चार डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने का अनुमान है।”

29 अप्रैल से बारिश की संभावना
उन्होंने कहा कि 29 अप्रैल से बारिश की संभावना है, जिससे लोगों को काफी राहत मिलेगी। कुछ जिलों में 21 और 22 अप्रैल को बारिश हुई थी लेकिन उसके बाद तापमान बढ़ना शुरू हो गया। फिलहाल राज्य के ज्यादातर हिस्सों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक बना हुआ है।

गोड्डा राज्य का सबसे गर्म जिला
झारखंड की राजधानी रांची में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास है और अगले कुछ दिनों में तापमान में एक या दो डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हो सकती है। गोड्डा राज्य का सबसे गर्म जिला रहा जहां अधिकतम तापमान 42.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इसके बाद डाल्टनगंज में अधिकतम तापमान 42.7 डिग्री सेल्सियस, देवघर में 42.6 डिग्री सेल्सियस, चाईबासा में 42.4 डिग्री सेल्सियस, जमशेदपुर में 42.2 डिग्री सेल्सियस, साहिबगंज में 41 डिग्री सेल्सियस, गिरिडीह में 40.3 डिग्री सेल्सियस और बोकारो में 40.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।

बिजली कटौती और पेयजल की कमी से जूझ रहे लोग
बढ़ते तापमान के बीच राज्य के लोग बिजली कटौती और पेयजल की कमी से जूझ रहे हैं। ऊर्जा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि रविवार को झारखंड में 2550 मेगावाट बिजली की मांग थी जबकि उसे 2200 से 2250 मेगावाट की आपूर्ति मिली। उन्होंने बताया कि मांग और आपूर्ति में 300 से 350 मेगावाट का अंतर था।

विस्तार

झारखंड के तीन जिलों में कुछ दिनों की राहत के बाद सोमवार को एक बार फिर से लू चलने लगी है और तीन दिन के अंदर राज्य के छह अन्य जिलों में भी लू चलने का अनुमान है।

पश्चिमी सिंहभूम, कोडरमा और गिरिडीह जिले लू की चपेट में हैं जबकि रांची, बोकारो, पूर्वी सिंहभूम, गढ़वा, पलामू और चतरा में 28 अप्रैल तक लू चलने का अनुमान है। रांची मौसम केंद्र के प्रभारी अभिषेक आनंद ने बताया कि “देश के पश्चिम और उत्तर पश्चिमी हिस्सों से आने वाली शुष्क और गर्म हवाओं की वजह से झारखंड में तापमान बढ़ रहा है। अगले दो-तीन दिनों के दौरान अधिकतम तापमान दो से चार डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने का अनुमान है।”

29 अप्रैल से बारिश की संभावना

उन्होंने कहा कि 29 अप्रैल से बारिश की संभावना है, जिससे लोगों को काफी राहत मिलेगी। कुछ जिलों में 21 और 22 अप्रैल को बारिश हुई थी लेकिन उसके बाद तापमान बढ़ना शुरू हो गया। फिलहाल राज्य के ज्यादातर हिस्सों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक बना हुआ है।

गोड्डा राज्य का सबसे गर्म जिला

झारखंड की राजधानी रांची में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास है और अगले कुछ दिनों में तापमान में एक या दो डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हो सकती है। गोड्डा राज्य का सबसे गर्म जिला रहा जहां अधिकतम तापमान 42.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इसके बाद डाल्टनगंज में अधिकतम तापमान 42.7 डिग्री सेल्सियस, देवघर में 42.6 डिग्री सेल्सियस, चाईबासा में 42.4 डिग्री सेल्सियस, जमशेदपुर में 42.2 डिग्री सेल्सियस, साहिबगंज में 41 डिग्री सेल्सियस, गिरिडीह में 40.3 डिग्री सेल्सियस और बोकारो में 40.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।

बिजली कटौती और पेयजल की कमी से जूझ रहे लोग

बढ़ते तापमान के बीच राज्य के लोग बिजली कटौती और पेयजल की कमी से जूझ रहे हैं। ऊर्जा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि रविवार को झारखंड में 2550 मेगावाट बिजली की मांग थी जबकि उसे 2200 से 2250 मेगावाट की आपूर्ति मिली। उन्होंने बताया कि मांग और आपूर्ति में 300 से 350 मेगावाट का अंतर था।

[ad_2]

Source link

By THE

Leave a Reply

Your email address will not be published.